WhatsApp!

WhatsApp "Jai Jinendra" and your name to 

425-305-9936

to receive updates on whatsapp!

Subscribe
Connect on Facebook!!
आदिनाथ के चिंतन से कषाय मंद होते हैं, अनादिनाथ के चिंतन से मिथ्यात्व एवं कषाय मंद होते हैं, इतना ही नहीं, बल्कि विलीन भी होते हैं।

- Pujya Shri Fulchand Shastri